महाराष्ट्र

त्वचा नेत्र व अंगों के दान पर आधारि,चलाया जा रहा है, जागरूकता अभियान

उप संपादक मोहित कुमार की रिपोर्ट हरिद्वार उत्तराखंड फोन नंबर-9557903552

 

मुंबई /बोरीवली:-

हिंदुस्तान में हर 4 मिनट में एक व्यक्ति की जलने से मृत्यु हो जाती है, परन्तु हम में से कई लोगो को ये नहीं पता! इसका मुख्य कारण ये है की जलने वाले अधिकांश लोग गरीब होते हैं और इसलिए मीडिया में इन्हे जगह नहीं मिलती! आश्चर्य तो इस बात का है कि हम इन्हे बचा सकते हैं यदि इन्हे वक़्त पर त्वचा उपलब्ध करा सकें, परन्तु दुर्भाग्य से हमारे त्वचा बैंक में त्वचा ही उपलब्ध नहीं होती क्युकि यहाँ कोई त्वचा दान ही नहीं करता ! ऐसा नहीं है कि हमारे देश में लोग त्वचा दान नहीं करना चाहते परन्तु उन्हें पता ही नहीं कि त्वचा दान भी किया जा सकता है !

समाज में त्वचा दान की जागरूकता के लिए रोटरी क्लब बोरीवली ईस्ट ने रोटरी क्लब दिल्ली शाहदरा, कॉटन सिटी रायचूर, नेशनल बर्न्स सेंटर एवं इंदौर की आनंद गोष्ठी एवम देश की 200 से भी अधिक रोटरी एवं अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर देशव्यापी जागरूकता अभियान चलाया हुआ है ! कुछ दिन पूर्व हमने निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जिसका उत्सावर्धक और सकारात्मक प्रतिसाद मिला ! उसकी सफलता से प्रेरित हो के अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का मर्मस्पर्शी आयोजन वेबिनार द्वारा किया जा रहा है |

रोटरी क्लब मुंबई बोरीवली ईस्ट के श्री प्रकाश निर्मल ने बताया कि प्रारम्भ में सिर्फ एक ही कवि सम्मलेन का आयोजन 12 सितंबर 2020 को किया गया था परन्तु कई लोगों ने इस कवि सम्मलेन के लिए बढ़ चढ़ के प्रोत्साहन दिखाया एवं उन्होंने त्वचादान अंगदान जैसे ज्वलंत और कठिन विषय पर रचनाएँ लिख कर हमें भेजी, अतः हम उनका उत्साह कम नहीं करना चाहते और इसलिए हम फिर से इस कार्यक्रम का दूसरा भाग गाँधी जयंती के दिवस पर २ अक्टूबर को वेबिनार के माध्यम से आयोजित करने जा रहे हैं जो कि PDG प्रफुल्ल शर्मा और सुरभि नोगजा के द्वारा संचालित किया जाएगा|

इस कवि सम्मलेन का उद्घाटन रोटरी इंटरनेशनल के पूर्व अध्यक्ष कल्याण बनर्जी द्वारा किया जायेगा! इस कार्यक्रम में श्री विक्रमादित्य सावे जो कि ४०% तक जल गए थे परन्तु दान की गयी त्वचा से उन्होंने पुनर्जन्म प्राप्त किया, भी शामिल होंगे और अपने अनुभव साझा करेंगे! इस बार भी देश के कई भागों से आये हुए रचनाकार अपनी मर्म स्पर्शी रचनाएँ प्रस्तुत करेंगे!

दिल्ली के श्री रवि सहगल सहगल ने बताया कि इस कवि सम्मेलन में श्री राजीव खरबंदा (दिल्ली), सुश्री दर्शन मधानी सोनपाल (सूरत), सुश्री उषा श्रॉफ (कोलकाता), सुश्री आत्मजा कासट (विरार), श्री निर्भय नरूला (दिल्ली), सुश्री प्रमिला धूपिया (कोलकाता), सुश्री चारु मित्रा (आगरा), सुश्री नेहा यादव (मुंबई), डॉ राकेश अग्रवाल (हापुड़), डॉ संतोष मिश्रा (शेगाव), सुश्री विद्या भंडारी (कोलकाता), डॉ संध्या मेहता (मीरा रोड), सुश्री अंजू गुप्ता (दिल्ली), डॉ रीना मालपानी (पुणे), सुश्री विद्या अधिकारी (मलाड), सुश्री प्रजापति रानी (वापी), सुश्री कुसुम बंसल (मुंबई), श्री गौरीशंकर वैश (लखनऊ), सुश्री छवि सिंघल (आगरा), सुश्री उषा अग्रवाल (पनवेल), सुश्री सविता पोद्दार (कोलकाता), सुश्री दीपशिखा श्रीवास्तव (मुंबई), सुश्री अलका गोयल (दिल्ली) एवं सुश्री स्नेहा अग्रवाल (मुंबई) भाग लेंगे और अपनी मर्मस्पर्शी रचनाये प्रस्तुत करेंगे !

श्री गिरीश मित्तल ने बताया कि इसके पूर्व कवि सम्मलेन का प्रथम भाग 12 सितंबर को आयोजित किया गया था जिसकी शुरुआत इस मुहिम के प्रमुख श्री राजेश मोदी के वक्तव्य से हुई | उन्होंने सभी पेशेवर लेखकों एवं कवियों से अपील की कि वो सभी त्वचा दान, नेत्र दान एवम अंग दान विषय पर भी लिखें क्युकि आज समाज को इसकी अत्यंत आवश्यकता है।

कवि सम्मलेन भाग-1 का उद्घाटन रोटरी इंटरनेशनल के आगामी अध्यक्ष श्री शेखर मेहता द्वारा किया गया था | नेशनल बर्न सेंटर के डॉ केसवानीजी ने त्वचादान के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ भी दी | कवि सम्मलेन में श्री श्याम सुंदर पलोड एवं श्री किशोर कुमार मिश्रा अतिथि रूप में शामिल हुए! रोटरी द्वारा पहली बार त्वचादान, नेत्रदान और अंगदान पर कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया|

भारत के हर कोने से आए चुनिंदा रचनाकारों : रो० कमलेश नरुला (नई दिल्ली), जयश्री चौधरी (मुंबई), बबीता माँधणा (हावड़ा), रेनिका शर्मा (मुंबई), मनीला गोयल (उदयपुर), रो० संजय मालवी (इंदौर), मंसूरी सना आफ़रीन (वापी), वाणीश्री बाजोरिया (कोलकाता), मीरा परिहार (आगरा), सपना चौबे (मुंबई), दीपाली सोढ़ी (गौहाटी), बबीता पोद्दार (सूरत), डॉ नुपूर अशोक (राँची), देवकीनंद शांत (नई दिल्ली), डॉ रानी अग्रवाल (हापुड़), के० कविता (पांडीचेरी) और डॉ मृगेन्द्र श्रीवास्तव (मध्य प्रदेश), डॉ राजेंद्र मिलन (आगरा) ने त्वचादान, नेत्रदान और अंगदान जैसे सामाजिक जागरुकता के विषय पर मर्मस्पर्शी, अद्भुत व संवेदनशील कविताएँ पढ़कर समाज को नेक संदेश देकर अनायास ही सबके दिलों को छू लिया|

‘त्वचा, नेत्र व अंगो का दान….. समाज में लाएगा जीवन रक्षा का सोपान’ का आह्वान करते हुए अंत में श्री नवनीतजी श्रीवास्तव के धन्यवाद ज्ञापन से कवि सम्मलेन भाग-१ का समापन हुआ |

श्री राजेश मोदी ने लोगो से अपील की है की वो इस कवि सम्मेलन में आएं और इस जागरूकता अभियान का हिस्सा बने ! सभी कवितायें त्वचा, नेत्र एवं अंग दान पर ही आधारित होगी ! अधिक जानकारी के लिए श्री प्रकाश निर्मल से 9869185794 पर संपर्क किया जा सकता है!

सुरजीत दुग्गल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close