उत्तरप्रदेशएक्सक्लूजिव खबरें

विकासखंड कोतवाली देहात में भ्रष्टाचार का मामला फिर से प्रकाश में आया।

रिपोर्ट सौरभ त्यागी

ब्रेकिंग न्यूज़ बिजनौर

 

 विकासखंड कोतवाली देहात में भ्रष्टाचार का मामला फिर से प्रकाश में आया।

कोतवाली देहात विकास खंड के ग्राम पंचायत अलाउद्दीनपुर में इंटरलॉकिंग रोड निर्माण में धांधली की शिकायत की गई है। 

बगिया से लेकर सार्वजनिक कब्रिस्तान तक इंटरलॉकिंग रोड को बना दिखाकर लाखों रुपया निकाल लिया गया है लेकिन मौके पर एक भी इंटरलॉकिंग ईट नहीं लगी है।

 

अब सोचने वाली बात यह है कि नियमनुसार मनरेगा का पैसा कार्य पूर्ण होने के बाद सप्लायर को मटेरियल का दिया जाता है लेकिन विकासखंड कोतवाली देहात में कार्य होने से पहले ही पैसा दे दिया जाता है उसके बाद कार्य कराया जा रहा है।

 

जबकि कंप्यूटर में फाइल पहले ही फिड कर दी जाती हैं,

विकासखंड कोतवाली देहात में कोई भी काम सही प्रकार नजर नहीं आता। ऐसा प्रतीत होता है कि भारी कमीशन खोरी के तहत बिना कार्य कराए ही मनरेगा से पैसा निकाल लेते हैं और उसके बाद कार्य कराया जाता है प्रश्न चिन्ह तो इनके द्वारा किए गए कार्य की गुणवत्ता पर भी लगता है। फिलहाल जो भी है जांच का विषय है।

 

आपको बता दें कि इस ग्राम पंचायतों में टेक्निकल इंजीनियर सेक्रेटरी ग्राम प्रधान खंड विकास अधिकारी की क्या भूमिका है ,जो इस तरह के कार्य हो रहे हैं। 

 

मुख्य विकास अधिकारी बिजनौर को जब इस प्रकरण के बारे में जानकारी दी गई तो उन्होंने बताया कि जांच कर कार्यवाही की जाएगी और जो भी इसमें लिप्त पाया जाएगा उसके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी।

 

उधर खंड विकास अधिकारी कोतवाली ने भी जांच कराकर उचित कार्यवाही की बात कही।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close